फक्कड़ घुमक्कड़ के किस्से

हिन्दी दिवस पर मित्र कमल रामवानी सारांश की पुस्तक फक्कड़ घुमक्कड़ के किस्से का स्वाद लिया। आप कहेंगे कि पुस्तक का स्वाद कैसे लिया, घोल के पी रहे थे क्या। तो असल में पुस्तक का नाम फक्कड़ घुमक्कड़ के किस्से भले है पर ये खब्बू घुमक्कड़ के किस्सों से भरी हुई है। पूरी पुस्तक के …

Read moreफक्कड़ घुमक्कड़ के किस्से

साहब बीबी गुलाम

विमल मित्र द्वारा लिखित उपन्यास साहब बीबी गुलाम मात्र एक उपन्यास नहीं बल्कि कलकत्ते शहर की महागाथा है। कलकत्त्ता(अब कोलकाता) कैसे बसा, कैसे उजड़ा आदि बातों का वर्णन करता ये उपन्यास सामन्ती परिवेश की पड़ताल करता है। उपन्यास की पृष्ठभूमि ब्रिटिश काल की है जब अंग्रेज आ तो गये थे पर सत्ता के सारे केंद्र …

Read moreसाहब बीबी गुलाम